Friday , July 19 2019
Breaking News
Home / छत्तीसगढ़ विशेष / बड़ी कार्रवाई- खाद्य विभाग के छापे में 1 करोड़ से ज्यादा का धान और चावल जब्त, बगैर पंजीयन संचालित हो रही थी राइस मिल….!!

बड़ी कार्रवाई- खाद्य विभाग के छापे में 1 करोड़ से ज्यादा का धान और चावल जब्त, बगैर पंजीयन संचालित हो रही थी राइस मिल….!!

मगरलोड – धमतरी जिले के मगरलोड ब्लॉक स्थित बगैर पंजीयन चल रही एक राइस मिल में खाद्य विभाग की टीम ने दबिश देकर धान और चावल की बड़ी खेप पकड़ी है. पकड़े गए अनाज की कीमत 1 करोड़ से ज्यादा की बताई जा रही है !

दरअसल धमतरी कलेक्टर रजत बंसल द्वारा क्षमता के अनुरुप मीलिंग के लिए धान का उठाव नहीं किये जाने का मामला आया था. जिसके बाद कलेक्टर ने खाद्य विभाग को जिले की तमाम राइस मिलों की जांच के आदेश दिये गए थे. जिसके बाद खाद्य विभाग के अधिकारियों की टीम ने मगरलोड के ग्राम पंचायत अमलीडीह में स्थित डीएमएच एग्रोटेक राइस मिल में दबिश दी. विभाग की दबिश में सबसे चौंकाना वाला यह तथ्य सामने आया कि यह राइस मिल बगैर पंजीयन के संचालित हो रही थी. जांच में खाद्य विभाग ने मिल से 5200 क्विंटल धान और 850 क्विंटल उसना चावल जब्त किया है. जिसकी कीमत 1 करोड़ 13 लाख 90 हजार रुपये बताई जा रही है. राइस मिल उर्मिला शर्मा नाम की किसी शख्स की बताई जा रही है !

वहीं इस मामले में सहायक खाद्य अधिकारी अरविंद दुबे ने लल्लूराम डॉट कॉम से बातचीत में बताया कि प्रदेश में उस्ना राइस मिलर्स को कस्टम मिलिंग एक्ट के तहत विभाग में पंजीयन कराना अनिवार्य है साथ ही सरकारी धान की मीलिंग पहले करना है. सरकारी धान की मीलिंग के पश्चात ही प्रायवेट धान की मीलिंग कर सकता है. लेकिन डीएमएच एग्रोटेक राइस मिल द्वारा कस्टम मिलिंग एक्ट का उल्लंघन करते हुए पंजीयन नहीं कराया और प्रायवेट धान की मिलिंग की. उन्होंने बताया कि अब मामले को कलेक्टर कोर्ट में पेश किया जाएगा !

यह हो सकती है कार्रवाई

कलेक्टर कोर्ट में मामले की सुनवाई में अगर आरोपी राइस मिलर्स द्वारा रखा गया पक्ष तर्क संगत नहीं पाया गया तो उसके खिलाफ बड़ी कार्रवाई की जा सकती है. जानकारी के मुताबिक जुर्माना से लेकर राजसात तक की कार्रवाई हो सकती है !

Check Also

, बड़ी कार्रवाई- खाद्य विभाग के छापे में 1 करोड़ से ज्यादा का धान और चावल जब्त, बगैर पंजीयन संचालित हो रही थी राइस मिल….!!

भिलाई का नाम एक बार फिर से सर्वाधिक प्रदूषित शहरों के सूची में शामिल, कारखानों में लगे हैं दिखावे के ETP….!!

भिलाई/पवन केसवानी – केन्द्रीय प्रदुषण नियंत्रण बोर्ड यानी सीपीसीबी ने द्वारा जारी देश में हुए …