Wednesday , June 26 2019
Breaking News
Home / विविध / 60 हजार रुपये हर महीने पा सकते हैं पेंशन, मोदी सरकार की इस स्कीम का उठाएं फायदा….!!

60 हजार रुपये हर महीने पा सकते हैं पेंशन, मोदी सरकार की इस स्कीम का उठाएं फायदा….!!

कम उम्र में ही निवेश के बड़े फायदे होते हैं. इसके लिए आपको कोई ऐसी स्कीम या प्लान चुनना चाहिए, जो आने वाले दिनों में आपकी फाइनेंशियल स्थिति को मजबूत कर सके. ऐसे में सरकार द्वारा संचालित नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) आपके लिए बेहतर विकल्प साबित हो सकता है. इसमें आपको ही महीने बहुत ज्यादा निवेश की भी जरूरत नहीं है. इसमें आप हर महीने मात्र 5000 रुपये निवेश कर रिटायरमेंट के बाद मंथली 60,000 रुपये की पेंशन पा सकते हैं. साथ में आपको 23 लाख रुपये की एकमुश्त रकम भी मिलेगी!

कौन ले सकता है NPS का लाभ
नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) से 18 से 60 साल की उम्र के बीच का कोई भी वेतनभोगी जुड़ सकता है. पहले यह सिर्फ सरकारी कर्मचारियों के लिए था, लेकिन 2009 से प्राइवेट सेक्टर में नौकरी करने वालों के लिए स्कीम खोल दी गई.

कौन संभालता है निवेश का जिम्मा
नेशनल पेंशन सिस्टम (NPS) में जमा किए गए पैसे को निवेश करने का जिम्मा पेंशन फंड रेगुलेटरी एंड डेवलपमेंट अथॉरिटी (PFRDA) द्वारा रजिस्टर्ड पेंशन फंड मैनेजर्स को दिया जाता है. ये फंड मैनेजर आपके पैसे को इक्विटी, गवर्नमेंट सिक्युरिटीज और नॉन गवर्नमेंट सिक्युरिटीज के अलावा फिक्स्ड इनकम इंस्ट्रूमेंट में निवेश करते हैं. सब्सक्राइबर्स इनमें से चुनाव कर सकते हैं या बदलाव कर सकते हैं.

कैसे मिलेगी 60 हजार की मंथली पेंशन
अगर योजना में आप 25 की उम्र से जुड़ते हैं तो 60 की उम्र तक यानी 35 साल तक आपको हर महीने 5000 रुपये स्कीम के तहत जमा करना होगा. आपके द्वारा किया गया कुल निवेश 21 लाख रुपए होगा. NPS में कुल निवेश पर अगर अनुमानित रिटर्न 8 फीसदी मान लें तो तो कुल कॉर्पस 1.15 करोड़ रुपये होगा. इसमें से 80 फीसदी रकम से एन्युटी खरीदते हैं तो वह वैल्यू करीब 93 लाख रुपए होगी. लम्प सम वैल्यू भी 23 लाख रुपये के करीब होगी. एन्युटी रेट 8 फीसदी हो तो 60 की उम्र के बाद हर महीने 61 हजार रुपये के करीब पेंशन बनेगी. साथ ही अलग से 23 लाख रुपये का फंड भी.

कैसे खोलें अकाउंट
सरकार ने NPS में योजना के लिए सरकारी और निजी बैंकों को प्वॉइंट ऑफ प्रेजेंस बनाया है. आप किसी भी नजदीकी बैंक ब्रांच में जाकर अकाउंट खुलवा सकते हैं. इसके लिए आपको बर्थ सर्टिफिकेट, 10वीं की डिग्री, एड्रेस प्रूफ और आई कार्ड की जरूरत होती है. रजिस्ट्रेशन फॉर्म बैंक से मिल जाता है.

2 तरह के होते हैं अकाउंट
स्कीम के तहत 2 तरह के टियर-I और टियर-II अकाउंट होते हैं. टियर-I अकाउंट खुलवाना जरूरी है, जबकि टियर-II अकाउंट कोई भी टियर-I अकाउंट खुलवाने वाला शुरू कर सकता है. टियर-I अकाउंट से 60 साल की उम्र के पहले पूरा फंड नहीं निकाला जा सकता है. जबकि टियर-II अकाउंट में अपनी मर्जी से निवेश कर सकते हैं या फंड निकाल सकते हैं !

Check Also

रिसर्च में खुलासा, मोबाइल के ज्यादा इस्तेमाल से युवाओं के सिर में निकल रहे हैं सींग….!!

अगर आप मोबाइल का ज्यादा इस्तेमाल करते हैं, तो सावधान हो जाइए. ये खबर आपको …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *